ऐसी फिल्में जो कई देशों में थी प्रतिबंधित !

हमारे अन्य लेख पढने के लिये फॉलो करे : फेसबुक

===

बॉलीवुड की ऐसी कई फिल्मों के बारे में आप जानते होंगे जो किसी न किसी कारण से भारत के कई राज्यों में प्रतिबंधित कर दी गयी. सन 2017-2018 में निर्देशक संजय लीला भंसाली द्वारा  निर्देशित फिल्म पद्मावत को भारत के पांच राज्यों में प्रतिबंधित किया गया था.

फिल्म में कई बदलाव कर आख़िरकार इसे रिलीज की मंजूरी दे दी गयी थी. बहराल आज हम आपको उन फिल्मों के बारे जानकारी देंगे जो सिर्फ एक या दो राज्य में नहीं बल्कि कई देशों में प्रतिबंधित थे.

वुल्फ ऑफ़ वॉल स्ट्रीट

वर्ष २०१४ में मार्टिन स्कॉर्सीज की भारी-भरकम मनोरंजक तथा 80 के दशक की कथा निश्चित रूप से विवादास्पद है. लेकिन क्या यह वास्तव में किसी ऐसी अन्य फिल्म की तुलना में ज़्यादा विवादस्पद है?

वुल्फ ऑफ़ वॉल स्ट्रीट लगभग पूरी अफ्रीका में गैरकानूनी घोषित कर दी गई थी. उल्लेखनीय बात यह है कि, इसका कारण भी स्पष्ट नहीं है.

यह प्रतिबंध केन्या से शुरू हुआ. चौंकाने वाली बात है कि समूचे महाद्वीप पर हर दूसरे देश ने इस प्रतिबन्ध का अनुकरण किया. कुल 54 देशों ने इस फिल्म पर प्रतिबन्ध लगाया.

पाइरेट्स ऑफ़ द कैरिबियन पर ख़राब छवी का आरोप 

hqdefault kuchhnaya

जॉनी डेप की समुद्र तटीय श्रृंखला की तीसरी फिल्म पाइरेट्स ऑफ़ द कैरिबियन में अभिनेता चाउ यून-फैट सिंगापुर समुद्री डाकू के रूप में शामिल हैं. अभिनेता के स्क्रीन टाइम का लगभग आधा हिस्सा चीन में दिखाए जाने वाले संस्करण से छांट दिया गया था.

जिसका अनौपचारिक कारण यह बताया गया था कि यून-फैट द्वारा चित्रित चरित्र सभी चीनी लोगों की नकारात्मक छवि प्रस्तुत कर रहा था.

मजाक सीन के कारण श्रेक 2 पर प्रतिबंध 

shrek २ kuchhnaya

इस फिल्म के साथ एक अजीब समस्या हुई थी. इसके हिब्रू डब में एक मजाक दिखाया गया था जो इज़राइल के लोगों को बिल्कुल पसंद नहीं आया था. स्थानीय गायक डेविड डीओर के उच्च गायन  ऊपर एक अनुक्रम में मजाक किया गया था. जिस पर कानूनी कार्रवाई भी की गई थी.

बच्चों के लिए ठीक नहीं बार्नेस ग्रेट एडवेंचर

Barnes Great Adventure kuchhnaya
यह प्यारा बैंगनी डायनासोर पूरे परिवार को पसंद है. आकर्षक धुनों और मीठे आवाज़ के बच्चों का  चरित्र भला किस को आक्रामक लग सकता हैं ?

पर मलेशियाई सरकार का एक अलग दृष्टिकोण था. इस टीवी शो के फिल्मी संस्करण पर प्रतिबंध लगा दिया गया. क्योंकि, उन्होंने सोचा कि यह फिल्म बच्चों के देखने के लिए उपयुक्त नहीं है.

2012

२०१२ kuchhnaya

वर्ष २००९ में बनी यह फिल्म एक आपदा की कहानी है, जो कि मायन कैलेंडर घोषणा के साथ एक प्रयोग है. जिसके तहत 2012 वह वर्ष था जब दुनिया का अंत हो जाता.

पर इस फिल्म को उत्तर कोरिया के पूर्व नेता किम II सुंग के 100वे जन्मदिन को निराशाजनक बनाने के लिए उत्तर कोरिया में प्रतिबंधित कर दिया गया.

क्योंकि इसी साल उत्तर कोरिया ने खुद को एक विश्व शक्ति के रूप में दर्शाने की योजना बनाई थी.

धार्मिक भावनाओं पर आघात करती  द दा विंची कोड

da_vinci_code_dan_brown kuchhnaya

सबसे तेज़ी से बिकने वाले डॉन ब्राउन की पुस्तक श्रृंखला पर आधारित जगमगाहट वाले थ्रिलर द दा विंची कोड को कई धार्मिक समूहों के असंतोष का सामना करना पड़ा.

सोलोमन द्वीप के प्रधानमंत्री मानासेह सोगावारे ने कहा था कि, यह फिल्म ईसाई धर्म की जड़ों पर आघात है. इसी वजह से इसे सोलोमन द्वीप में प्रतिबंधित कर दिया गया था.

द सिम्पसंस मूवी

The_simpsons-kuchhnaya

आप किसी फिल्म पर प्रतिबन्ध का इससे ज्यादा विचित्र कारण नहीं सुनेंगे. २००७ में बनी फिल्म सिम्प्सन मूवी को बर्मा की सत्तारूढ़ दल द्वारा गैरकानूनी घोषित किया गया था. क्योंकि लाल और पीले रंगों के संयोजन को उनके विद्रोही सेना का समर्थन मान लिया गया था.

===

हमारे अन्य लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें: KuchhNaya.com | कॉपीराइट © KuchhNaya.com | सभी अधिकार सुरक्षित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *