दुनिया के सबसे बड़े प्लेन का रन-वे पर हुआ ट्रायल, अगले साल भरेगा उड़ान

दुनिया के सबसे बड़े विमान स्ट्रैटोलॉन्च का रनवे ट्रायल सफल रहा है. इसे कैलिफोर्निया के मोजेव एयर एंड स्पेस पोर्ट पर टेस्ट किया गया. 2.26 लाख किलो वजन वाला ये विमान 75 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से रनवे पर दौड़ा. इसी के साथ प्लेन के उड़ान भरने का रास्ता साफ हो गया है. ये प्लेन 2019 में पहली उड़ान भरेगा.

ये अंतरिक्ष में रॉकेट लॉन्च करने का काम करेगा. 24 घंटे के भीतर अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन में रसद सामग्री पहुंचाएगा. यह मौजूदा अंतरिक्ष अभियानों से काफी किफायती होगा. इस विमान के विंगस्पैन की लंबाई 375 फीट है, जो एक फुटबॉल फील्ड की लंबाई से भी ज्यादा है. वहीं इसकी चौड़ाई 12.5 फीट है, जो गोल पोस्ट के बराबर है.

विमान की बनावटी खासियतें 

विमान में सामान्य हवाई जहाजों के मुकाबले 28 पहिए, 6 इंजन, 2 कॉकपिट लगे हैं. विमान के कॉकपिट में 3 केबिन क्रू के लिए जगह. विमान में कुल 6 इंजन लगे हैं। हर इंजन का वजन 4 हजार किलो है. विमान को कम समय में रॉकेट को लांच  करने के उद्देश्य से खासकर बनाया गया है. जिसके ललॉन्च पर मौसम वगैरह का ज्यादा फर्क ना पड़े. यह प्लेन 50 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भरने में सक्षम होगा. वर्ष 2011 में ये प्रोजेक्ट शुरू हुआ था, तब ये प्रोजेक्ट 20 हजार करोड़ रुपए का था.

 

पूरा विमान 2 केबिन में बंटा है

पूरा विमान 2 अलग-अलग केबिन में बंटा हुआ है. दोनों केबिन के बीच का हिस्सा एक लॉन्चपैड की तरह इस्तेमाल होगा. ये हिस्सा ही उड़ान के दौरान रॉकेट का भार संभालने का काम करेगा. दोनों केबिन में अपने-अपने कॉकपिट हैं. दाएं कॉकपिट में 1-1 पायलट, सहायक-पायलट और फ्लाइट इंजीनियर के लिए जगह है. वहीं बायां कॉकपिट खाली रहेगा. इसका इस्तेमाल आपातकाल में किया जा सकेगा. फिलहाल इस प्लेन का अभी रनवे पर ट्रायल हुआ है जल्द अगले साल ये प्लेन 2019 में पहली उड़ान भरेगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *