भारतीय क्रिकेट टीम की महिला खिलाडियों की फीस लाखों में पर पुरुषों की करोड़ों रुपये

भारत में क्रिकेट का क्रेज हर किसी के सर चढ़कर बोलता है. काफी समय महिला क्रिकेट टीम की जीत भी सुर्खियां बनने लगी हैं. भारत में तमाम खेलों में सबसे प्रिय इस खेल में भी महिलाओं और पुरूषों के प्रति भेदभाव देखा जा सकता है. आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि भारत में पुरूष और महिला क्रिकेटरों की कमाई में कितना बड़ा अंतर है.

महिला और पुरुष क्रिकेटर्स की फीस में है बड़ा फर्क 

जहां तक अंतर की बात है, महिला खिलाडि़यों को मिलने वाली सर्वोच्‍च राशि 50 लाख है और पुरुष खिलाडि़यों को मिलने वाली सबसे कम राशि भी 1 करोड़ रुपए है. यानी न्‍यूनतम राशि का भी आधा. महिला और पुरुष क्रिकेटर्स की रिटेनरशिप फीस के आंकड़ों को देखा जाए तो पता चलता है कि बीसीसीआई ने इनके बीच काफी अंतर रखा है. यह रिटेनरशिप फीस केवल अनुबंध के समय घोषित राशि है. मैच फीस और खिलाडि़यों की विज्ञापनों से होने वाली आय इसमें शामिल नहीं है.

बीसीसीआई ने जारी किया 2017-18 अनुबंध 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड) ने हाल ही में खिलाडि़यों के नए करार का ऐलान किया है. यह सालाना अनुबंध अक्‍टूबर 2017 से सितंबर 2018 तक की अवधि के लिए है. इन अनुबंध में बोर्ड ने बड़ा सरप्राइज देते हुए पूर्व भारतीय कप्‍तान महेंद्रसिंह धोनी और सीनियर ऑफ स्पिनर आर अश्विन को शीर्ष ग्रेड से हटाया है.

बीसीसीआई ने भारतीय क्रिकेट टीम के 26 खिलाडि़यों को वरिष्‍ठता सूची में रखते हुए अनुबंध जारी किया है. साथ ही महिला क्रिकेटर्स की भी सूची जारी की है लेकिन गौर करने योग्‍य बात है कि इसमें महिला और पुरुष क्रिकेटर्स को मिलने वाली रिटेनरशिप फीस में काफी अंतर है. पिछले साल महिला क्रिकेटर्स अपने शानदार प्रदर्शन के चलते सुर्खियों में छाईं रहीं, बावजूद जमीनी हकीकत ये है कि अभी भी महिला खिलाडि़यों को उनकी योग्‍यता के अनुसार उचित मेहनताना नहीं मिल रहा है.

महिला क्रिकेटर्स आईपीएल से वंचित 

पुरुष खिलाडि़यों की कमाई महिला खिलाडि़यों से कितनी अधिक है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रिटेनरशिप फीस में तो बड़ा अंतर है ही, इसके अलावा भी काफी फर्क है. आईपीएल से होने वाली आय जहां पुरुष खिलाडि़यों के खाते में जाएगी, वहीं महिला खिलाड़ी अभी इससे वंचित ही हैं. अकेले विराट कोहली आईपीएल के सीजन से 17 करोड़ रुपए कमा लेंगे जबकि अनुबंध में उनका स्‍थान ए-प्‍लस श्रेणी में सुरक्षित है ही, जिसके लिए उन्‍हें 7 करोड़ रुपए दिए जाएंगे.

बोर्ड ने केंद्रीय अनुबंध के लिए एक नई ए प्‍लस श्रेणी की शुरुआत की है. इसमें कप्‍तान विराट कोहली सहित केवल पांच ही खिलाड़ी शामिल किए गए हैं. श्रेणी में शामिल प्रत्‍येक खिलाड़ी को 7 करोड़ रुपए दिए जाएंगे. इसके अलावा ए श्रेणी में शामिल खिलाडि़यों को 5 करोड़ रुपए मिलेंगे. बी कैटेगरी के खिलाडि़यों को 3 और सी कैटेगरी वाले खिलाडि़यों को 1 करोड़ रुपए दिए जाएंगे.

बोर्ड ने 19 महिला खिलाडि़यों को वरिष्‍ठता सूची में शामिल किया है. इसमें ए ग्रेड खिलाडि़यों को 50 लाख रुपए, बी ग्रेड खिलाडि़यों के लिए 30 लाख रुपए और सी ग्रेड खिलाडि़यों के लिए 10 लाख रुपए प्रति खिलाड़ी दिए जाएंगे.

पुरुष खिलाडियों की श्रेणी 

ए प्‍लस श्रेणी के खिलाड़ी विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, भुवनेश्‍वर कुमार,  और जसप्रीत बुमराह शामिल है. ए श्रेणी में पूर्व कप्तान महेंद्रसिंह धोनी, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, मुरली विजय, चेतेश्‍वर पुजारा, अजिंक्‍य रहाणे, और रिद्धिमान साहा को शामिल किया गया है. बी श्रेणी में केएल राहुल, उमेश यादव, कुलदीप यादव, यजुवेन्‍द्र चहल, मोहम्‍मद शमी, हार्दिक पटेल, इशांत शर्मा और  दिनेश कार्तिक शामिल है. जबकि सी श्रेणी केदार जाधव, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, करूण नैयर, सुरेश रैना, पार्थिव पटेल और  जयंत यादव शामिल है.

महिला खिलाड़ियों की श्रेणी 

वही महिला खिलाडियों के ए ग्रेड में शामिल महिला खिलाड़ी कप्तान मिताली राज, झूलन गोस्‍वामी, हरमनप्रीत कौर और  स्‍मृति मंधाना को 50 लाख रुपए फ़ीस मिलेगी. बी ग्रेड में शामिल महिला खिलाड़ी पूनम यादव, वेदा कृष्‍णमूर्ति, राजेश्‍वरी गायकवाड़, एकता बिष्‍ट, शिखा पांडे और दीप्ति शर्मा  30 लाख रुपए फीस मिलेगी. सी ग्रेड में शामिल महिला खिलाड़ी मानसी जोशी, अनुजा पाटिल, मोना मेश्राम, नुज़हत परवीन, सुषमा वर्मा, पूनम राउत, जेमिमा रोड्रिग्‍ज, पूजा वस्‍त्रकार और  तान्‍या भाटिया को 10 लाख रुपए फ़ीस मिलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *