जहां लड़कियों को नहीं मिलते शादी के लिए कुंवारे लड़के

हमारे अन्य लेख पढने के लिये फॉलो करे : फेसबुक

===

भारत जैसे देशों में बेटी बचाओं अभियान के तहत बेटियों की संख्या बढ़ाने का प्रयास किया जाता है. मगर हैरतअंगेज होने वाली बात है कि, एक देश में एक गांव ऐसा भी है जहां कुंवारी लड़कियों को शादी के लिए कुंवारे लड़के नहीं मिलते है.

noiva do cordeiro kuchhnaya.com
The Mirror.com

जी हां हम बात कर रहे हैं ब्राजील के नोइवा दो कोरडेएरो कस्बे की. जहां करीब 600 महिलाओं वाले इस गांव में अविवाहित पुरुषों का मिलना बहुत मुश्किल है और शादी के लिए यहां की लड़कियों की तलाश अधूरी है.

noiva do cordeiro kuchhnaya.com
youtube

समाज में कहते हैं कि हर औरत पुरुष के बिना अधूरी है और हर पुरुष औरत के बिना अधूरा है. शादी एक ऐसा शब्द है जो किसी भी लड़की के चेहरे पर ख़ुशी ला देता है, क्योंकि शादी के बाद ही असल मायने में लड़की का अस्तित्व पता चलता है.

noiva do cordeiro kuchhnaya.com
Scrabbl.com

हर मां-बाप अपने बच्चे के लिए अच्छे से अच्छा लड़का और लड़की चुनते हैं. क्योंकि शादी न केवल दो दिलों का मिलन है बल्कि ये दो परिवारों का भी मिलन होता है.

ऐसे में अगर आपको यह मालूम पड़े कि दुनिया में एक ऐसी भी जगह है जहां माता-पिता को अपनी बेटी के लिए कुंवारे लड़के नहीं मिलते है जिसकी वजह से उन्हें कुछ ऐसा करना पड़ जाता है जिसे सुनकर आप हैरान रह जायेंगे.

जब नहीं मिलते कुवारें लड़के तो विवाहित मर्द से कर दी जाती है शादी

गांव की जहां 18 से 30 साल तक की लड़कियों की संख्या पुरुषों के मुकाबले अधिक है. ऐसे में जब माता पिता को अपनी बेटी के लिए कुवारा लड़का नहीं मिलता है, तो वो लोग मजबूरन शादीशुदा मर्दों के साथ ही अपनी बेटियों की शादी कर देते हैं.

noiva do cordeiro kuchhnaya.com
Portal Minas

यहां इस गांव में हर लड़की अपनी शादी के लिए तरसती है. कई बार तो इस गांव में पुरुषों की कमी होने की वजह से यहां की लड़कियों को पूरी जिंदगी बिना शादी के की रहना पड़ जाता है.

आजीवन रह जाती है लड़कियां  कुंवारी 

इस गांव में लड़कों की संख्या लड़कियों के मुकाबले बेहद कम है. आकड़ों की माने तो यहां करीब 600 महिलाओं की आबादी वाली इस छोटी सी जगह पर करीब 300 से ज्यादा कुवारी लड़कियों को अपनी शादी के लिए लड़के ही नहीं मिल पाए हैं अब तक. जिसकी वजह से ये लड़कियां अभी तक कुवारी हैं या फिर उन्होंने शादीशुदा मर्द से ही शादी कर ली है.

वही इस गाँव के बारे में यह भी कहा जाता है कि इस गाँव की लड़कियां चाहती हैं कि शादी के बाद लड़का उनके साथ इसी गांव मे आकर रहे और उनके काम को संभाले. इस गाँव में खेती इस गाँव के पुरुष नहीं बल्कि खुद महिलाएं ही करती हैं.

noiva do cordeiro kuchhnaya.com

गांव में है महिलाओं का वर्चस्व 

इस कस्बे की पहचान मजबूत महिला समुदाय की वजह से है. इसकी नींव मारिया सेनहोरिनहा डी लीमा ने रखी थी, जिन्हें कुछ वजहों से 1891 में अपने चर्च और घर से निकाल दिया गया था.

दरअसल सन 1940 में एनीसियो परेरा नाम के एक पादरी ने यहां के बढ़ते समुदाय को देखकर यहां एक चर्च की स्थापना की. इतना ही नहीं उसने यहां रहने वाले लोगों के लिए शराब ना पीने, म्यूजिक न सुनने और बाल न कटवाने जैसे चित्र-विचित्र नियम कानून बना दिए.

noiva do cordeiro.com

लेकिन सन 1995 में पादरी की मौत के बाद यहां की महिलाओं ने फैसला किया कि अब कभी किसी पुरुष के जरिए बनाए गए नियम-कायदों पर वो नहीं चलेंगी. तभी से यहां महिलाओं का वर्चस्व है.

===

हमारे अन्य लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें: KuchhNaya.com | कॉपीराइट © KuchhNaya.com | सभी अधिकार सुरक्षित

One thought on “जहां लड़कियों को नहीं मिलते शादी के लिए कुंवारे लड़के

  • October 28, 2018 at 10:47 am
    Permalink

    Un ladkiyon se contact kaise hoga Jo unki sadi kerwai jaye

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *