सरकार दो कटेगरी के जारी करती है पासपोर्ट जाने किससे है कितना फायदा

पासपोर्ट या पारपत्र किसी राष्ट्रीय सरकार द्वारा जारी वह दस्तावेज होता है जो अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के लिए उसके धारक की पहचान और राष्ट्रीयता को प्रमाणित करता है. पहचान स्थापित करने के लिए नाम, जन्म तिथि, लिंग और जन्म स्थान के विवरण इसमे प्रस्तुत किये जाते हैं. आमतौर पर एक व्यक्ति की राष्ट्रीयता और नागरिकता समान होती हैं. पिछले कुछ सालों से पासपोर्ट एक महत्वपूर्ण दस्तावेज के रूप में अपनाया जा रहा है, पहले पासपोर्ट का इस्तेमाल सिर्फ देश के बाहर जाने के लिए किया जाता था लेकिन अब पासपोर्ट देश के नागरिकों के पहचान के लिए भी महत्वपूर्ण दस्तावेज बन चुका है.

भारत सरकार अपने नागरिकों को दो कैटेगरी में पासपोर्ट देती है अगर आपके पास भी पासपोर्ट है या फिर आप पासपोर्ट बनाने की तैयारी कर रहे हैं तो आपको इस बात की जानकारी होना बेहद जरूरी है कि आपका पासपोर्ट कौन सी कैटेगरी में है या फिर आपको कौन सी कैटेगरी का पासपोर्ट बनवाना है.

शिक्षा के आधार पर जारी होते दो तरह के पासपोर्ट 

दरअसल भारत सरकार का विदेश मंत्रालय ईसीआर और ईसीएनआर दो तरह के पासपोर्ट जारी करती है जिसमें ईसीआर का मतलब इमिग्रेशन चेक रिक्वायर्ड होता है और ईसीएनआर का मतलब इमिग्रेशन चेक नॉट रिक्वायर्ड होता है. अगर आप दसवीं पास है तो आपको ईसीएनआर पासपोर्ट मिलेगा और यदि आप दसवीं पास नहीं है तो आपको ईसीआर कैटेगरी का पासपोर्ट मिलेगा.

ईसीआर कैटेगरी में बने हुए पासपोर्ट पेज पर स्टांप लगा होता है जिसमें साफ-साफ लिखा होता है कि इमीग्रेशन चेक रिक्वायर्ड, अगर आपके पास ईसीआर कैटेगरी का पासपोर्ट है तो आपको देश से बाहर जाने पर इमीग्रेशन ऑफिसर से क्लीयरेंस लेना होता है. जबकि ईसीएनआर कैटेगरी के पासपोर्ट धारकों को इंडिया से बाहर जाने के लिए इमीग्रेशन ऑफिसर से क्लीयरेंस लेने की जरूरत नहीं होती है.

अगर आप 10वीं पास नहीं हैं और आप सऊदी अरब, कुवैत, ओमान, लीबिया, सीरिया, यमन, इराक, मलेशिया, जॉर्डन जैसी कंट्रीज में जाना चाहते हैं तो आपको इमीग्रेशन ऑफिसर से क्लीयरेंस लेना होगा. हालांकि अगर आप इन देशों में नौकरी करने के लिए नहीं जा रहे हैं तो आपको इमीग्रेशन के क्लीयरेंस लेने की जरूरत नहीं है.

रंगों के आधार पर भी जारी होते है पासपोर्ट 

हालांकि भारत सरकार का विदेश मंत्रालय सरकारी और गैर-सरकरी नागरिकों के आधार पर तीन रंगों के पासपोर्ट जारी करता है. जिसमे नीला, सफ़ेद और मरून रंग का होता है. नीले रंग का पासपोर्ट इंडिया के आम नागरिकों के लिए बनाया जाता है. सफेद रंग का पासपोर्ट गवर्नमेंट ऑफिशियल को रिप्रजेंट करता है. वह शख्स जो सरकारी कामकाज से विदेश यात्रा जाता है उस यह पासपोर्ट जारी किया जाता है. इंडियन डिप्लोमैट्स और सीनियर गवर्नमेंट ऑफिशियल्स (आईपीएस, आईएएस रैंक के लोग) को मरून रंग का पासपोर्ट जारी किया जाता है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *