यहाँ गणपति जी के प्रतिमा का हररोज बढ़ता है आकार

अपनी खेती के लिए कुआं खोद रहे थे तीन विकलांग किसान जहां उन्हें एक पत्थर दिखाई दिया. पत्थर को हटाया तो वहां से खून की धारा फूट पड़ी.

Read more