पाकिस्तान बना ऐसा पहला देश जहां होगा सिख विवाह का पंजीकरण

दुनिया भर के मुस्लिम बहुल देश में पाकिस्तान एक मात्र ऐसा होगा जहां की सरकार एक कानून के तहत सिख विवाह का पंजीकरण विवाह को सशर्त क़ानूनी मान्यता देगा. जिसके लिए हाल ही में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की विधानसभा में ‘पंजाब सिख आनंद कराज विवाह एक्ट 2017’ सर्वसम्मति से पारित किया गया. जिसे राज्यपाल की मंजूरी मिलते ही यह एक्ट लागू हो जाएगा.

पिछले साल ही प्रस्तुत हुआ था प्रस्ताव 

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की विधानसभा ने ‘पंजाब सिख आनंद कारज विवाह अधिनियम 2017’ कानून सर्वसम्मति से पारित कर दिया. जिससे प्रांत में सिख विवाह को कानूनी मान्यता मिल गई है. सिख पुरुष और सिख महिला का बंधन को सिख संप्रदाय में आनंद करज कहा जाता है. मीडिया खबरों के अनुसार यह विधेयक प्रांतीय मंत्री सरदार रमेश सिंह अरोरा ने 2017 में पेश किया था जिसे पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने मंजूरी दी थी.

राज्यपाल के मंजूरी के बाद मिल जाएगी मान्यता 

राज्यपाल की मंजूरी मिलते ही यह एक्ट लागू हो जाएगा. कानून के मुताबिक, सिख विवाह को सिख धर्मग्रंथ गुरुग्रंथ साहिब में वर्णित धार्मिक रीतियों के अनुसार पूरा किया जाएगा. इसके बाद पंजाब प्रांत द्वारा नियुक्त रजिस्ट्रार द्वारा वैधता पत्र जारी किया जाएगा. सदन में विधेयक पेश करते समय अरोड़ा ने कहा कि कानून पास होने के बाद पाकिस्तान दुनिया का एक मात्र देश हो जाएगा जो सिख विवाह का पंजीकरण कराता है. अब तक सिख विवाह के आंकड़े गुरुद्वारों द्वारा संभाले जाते थे.

हिंदू विवाह अधिनियम विधेयक को भी मिली है अनुमति

आपको बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान में हिंदू विवाह अधिनियम विधेयक को सर्वसम्मति से अनुमति मिल चुकी है. जिसके बाद से अब पाकिस्तान में हिंदुओं की शादियों को पंजीकृत किया जा रहा है. जबकि पहले हिन्दुओं की शादी को पंजीकृत नहीं की जाती थी. जिसके चलते पाकिस्तान में रह रहे हिंदू समुदाय खुद को असुरक्षित महसूस करते थे.

भारत में आनंद कारज विवाह अधिनियम, 2012 के तहत होता है सिख विवाह 

भारत में  सिख संप्रदाय के लोगों की शादी के लिए बने आनंद कारज विवाह अधिनियम, 1909 में संशोधन पारित किया गया था, जिसे राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने भी मंजूरी दे दी थी. जिसके बाद सिख संप्रदाय के लोगों की शादी का पंजीकरण हिंदू विवाह अधिनियम के तहत न होकर आनंद कारज विवाह अधिनियम, 2012 के तहत होने लगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *