देश के सरकारी बैंकों को करोड़ों रुपयों का चुना लगा के विदेश में जीते है मौज की जिंदगी

आम जनता है कि अपने खून-पसीने की कमाई बैंकों में जमा करती है. मगर देश के ऐसे भी कुछ बैंक है जिनके अधिकारीयों की मिलीभगत से ऐसे कई पूंजीपति है जो बैंकों से पैसा उधार लेकर फरार हो जाते है. आज हम आपको ऐसे ही देश के कुछ बैंकों और उनसे पैसे लेकर भागने वाले उन व्यापारियों के बारे में बतायेंगे.

आइए जानते हैं ऐसे ही अरबपतियों के बारे में…

विजय माल्या

इस लिस्ट में सबसे चर्चित नाम है विजय माल्या का. शराब व्यापारी विजय माल्या ऐसे ही कई मामलों का सामना कर रहे हैं. उनकी कंपनियां भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपए लिया कर्ज नहीं चुका पाई हैं.

पैसे नहीं चुका पाने के कारण जब देश के बैकों ने मार्च 2016 में माल्या को देश से बाहर जाने से रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया तब तक वह विदेश जा चुका था. माल्या फिलहाल लंदन में हैं और वहां के कोर्ट में उनका मामला चल रहा है. माल्या वहां शानदार जिंदगी जी रहे है. कोर्ट ने भी उनके साप्ताहिक भत्ते को 3 गुना बढ़ा दिया है. माल्या को पिछले साल गिरफ्तार किया गया था लेकिन गिरफ्तार होने के कुछ ही समय में उन्हें बेल भी मिल गई.

 

नीरव मोदी 

jagranimages.com

दूसरा मामला एक और सामने आया है नीरव मोदी का. जिन्होंने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 11 हजार 360 करोड़ रुपए लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LOUs) फर्जी लेनदने के मामले में मुख्य आरोपी के तौर पर नामित किया गया है. LOUs के तहत एक बैंक की गारंटी पर दूसरे बैंक पेमेंट कर रहे थे.

इस घोटाले में पंजाब नैशनल बैंक (PNB) के अलावा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और एक्सिस बैंक के नाम भी सामने आये है. हालांकि इन बैंकों का कहना है कि वह पीएनबी के लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के आधार पर यह पेमेंट कर रहे थे.

इस पूरे खेल का मास्‍टर माइंड नीरव मोदी बताया जा रहा है. कुछ दिन पहले CBI ने PNB की शिकायत पर इस व्‍यक्ति के खिलाफ के खिलाफ मामला दर्ज किया था. नीरव मोदी एक डायमंड कारोबारी हैं और एक समय स्‍कूल की पढ़ाई छोड़ कर इन्‍होंने डायमंड का कारोबार शुरू किया था, और कुछ ही साल में हजारों करोड़ की कंपनी खड़ी कर दी थी. एक समय फोर्ब्‍स ने इनको भारत के 100 अमीरों की लिस्‍ट में भी शामिल किया था. फिलहाल नीरव मोदी देश से बहार है.

नीरव मोदी इस साल 1 जनवरी को देश छोड़कर चला गया है. उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी कर दिया गया है. नीरव मोदी की पत्नी अमेरिकी नागरिक है. वह भी 6 जनवरी को भारत से चली गई. नीरव मोदी का भाई निशल मोदी बेल्जियम का नागरिक है और उसने भी 1 जनवरी को भारत छोड़ दिया था. सीबीआई ने सभी आरोपियों के खिलाफ 31 जनवरी को लुक आउट सर्कुलर जारी कर दिया था.

प्रियंका चोपड़ा को भी लगाया चुना

इस बीच नीरव की कंपनी की ब्रैंड ऐंबैसडर रहीं बॉलिवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने उन पर पैसे नहीं देने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवाया है. नीरव की डायमंड कंपनी की ब्रैंड ऐंबैसडर के तौर प्रियंका के होर्डिंग पूरे मुंबई में लगे हुए थे. प्रियंका की मां मधु चोपड़ा कहा कि प्रियंका के साथ ठगी की गई है.

जनवरी के महीने में यूपी के सीतापुर से एक ऐसी खबर आई जो दिल को दहला गई. एक किसान को अपने जान से सिर्फ इसलिए हाथ धोना पड़ा क्योंकि वो कर्ज की कुछ इएमआइ नहीं चुका पाया. रिकवरी एजेंट उसके खेत पर जाते हैं, वाद-विवाद होता है लेकिन रिकवरी एजेंट उस किसान की बात को सुनने के लिए तैयार नहीं है.

नतीजा ये होता है कि जो ट्रैक्टर किसान के जीने की उम्मीद बनती है वहीं कातिलों के लिए हथियार बन जाता है. लेकिन हीरा कारोबारी नीरव मोदी, शराब के बड़े कारोबारी विजय माल्या बैंकों को हजारों करोड़ों का चूना लगाते हैं और नियम कानून की मदद से फिलहाल बचते हुए नजर आ रहे हैं.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *