शादी के कार्ड पर, हमारी भूल कमल का फूल

भारत के मौजूद केन्द्रीय सरकार से जहां एक लोग  लोग खुश है और उनकी योजनाओं का स्वागत कर रहे है तो वही देश के कई लोग नाखुश भी है. पिछले ही वर्ष गुजरात के व्यपारियों ने अपने बिल पैड पर सरकार द्वारा नोट बंदी और जीएसटी के लागू करने के बाद हमारी भूल कमल का फूल लिखकर नाराजगी जताई. ऐसा ही एक और मामला सामने आया है जहाँ एक बेरोजगार दुल्हे ने अपने शादी के कार्ड पर हमारी भूल कमल का फूल  लिखाकर सरकार के खिलाफ नाराजगी जताई है.

पंचायत में ऑपरेटर की नौकरी करता था दूल्हा 

दरअसल छत्तीसगढ़ में साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने है. ऐसे में रमन सरकार ने अपनी कुर्सी को बचाने के लिए कोशिशे शुरू कर दी है. लेकिन युवा वर्ग उनसे ख़ासा नाराज नजर आ रहा है. इसका नजारा जांजगीर में देखने को मिला.

जांजगीर में बेलादुला गांव के रामकुमार मनहर ने अपनी शादी के कार्ड पर छपवाया “हमारी भूल कमल का फूल.” उन्होंने ये सब सरकार की नीतियों से आहत होकर किया. साथ ही उन्होंने कार्ड पर अपनी और दुल्हन की जन्म तारीख और वर्ष भी छपवाया. ताकि कोई अड़चन पैदा न हो.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने बताया, वह बेरोज़गार हैं और इसका कारण सरकार की नीति और सिस्टम है. उन्होंने बताया, दो साल पहले रोज़गार में थे, पंचायत में ऑपरेटर थे. सरकार ने दस हज़ार को निकाल दिया तो मेरी भी नौकरी गई. विरोध हुआ तो पंचायत मंत्री जी बोले दूसरी भर्ती में प्राथमिकता देंगे, पर वह भी नहीं हुआ.. तो मैं तो कहूंगा न भूल है कमल फूल, तो बोलता भी हूं और कार्ड पर भी लिखवा दिया.

पहले भी हो चुका है ऐसा

हालांकि ये पहला मामला नहीं है. इससे पहले मध्यप्रदेश के सागर में भी ऐसा ही मामला सामने आया था. पेशे से संविदाकर्मी अनुराग जैन ने अपनी बेटी की शादी के कार्ड पर छपवाया था – “हमारी भूल कमल का फूल.” दरअसल, अनुराग जैन जो 2010 में स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर नियुक्त हुए थे, उनके साथ करीब 473 कर्मचारियों को सरकार ने नौकरी से निकाल दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *