ऐसा झरना जिसका पानी पापियों के ऊपर नहीं गिरता, जिसपर गिरे वो निरोगी हो जाये

दुनिया भर में ऐसी कई नदियां, पवित्र कुंड और झीले मौजूद जिसमे स्नान करने से शुद्धि मौर मुक्ति मिलती है। जिसमे हर कोई अपनी इच्छा से स्नान कर लेता है। मगर भारत में एक ऐसा झरना है जिसका पवित्र जल पापियों के ऊपर नहीं गिरता। जी हां हम बात कर रहे है उत्तराखंड में मौजूद वसुंधरा झरने की। तो आईये जानते है इस झरने ख़ास बातें ही काम लोग जानते है।

देश दुनिया भर से आते है एक बूंद के लिए-:

वसुधरा फॉल्स भारत के उत्तराखंड में बद्रीनाथ के पास स्थित एक झरना है। यह “अलकनंदा” नदी पर स्थित है। बद्रीनाथ से वसुधरा तक कुल दूरी 9 किमी है। इसकी मोतियों जैसे दिखने वाली जलधारा करीब 400 फीट ऊंचाई से गिरता है। ऐसा माना जाता है इसके नीचे जाने वाले हर इंसान के ऊपर झरने का पानी नहीं गिरता। इसके अलावा पापी इंसान होते उनपर का पानी गिरता।

ग़जब चीज़

पुराणों के मुताबिक यहां पांच पांडव में सहदेव ने अपने प्राण त्यागे थे। कहा जाता है कि यदि इस झरने के पानी के बूंद आपके ऊपर गिरने लगे तो आप समझ जाएं कि आप एक पुण्य आत्मा है। इसी कारण से दूर-दूर से श्रद्धालु यहां आते हैं और इस अद्भुत और चमत्कारी झरने के नीचे खड़े होते हैं। ऐसा भी माना जाता है कि इस झरने का पानी कई जड़ी-बूटियों वाले पौधों को छूकर नीचे आता है इसीलिए जिस पर भी यह झरने का पानी पड़े वह हमेशा के लिए निरोगी हो जाता है।

बद्रीनाथ के दर्शन बाद तमाम श्रद्धालु वसुधारा झरने को देखने जरूर आते हैं। यह झरना भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रसिद्ध है। दूसरे देशों के लोग भी वसुधारा झरने को देखने के लिए आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *