RO और बोतल बंद पानी पीना ह्रदय और बालों के लिए है हानिकारक

आजकल लोग RO (Reverse osmosis) और बोतल बंद पानी पीना पसंद करते हैं, वे इसे हाइजिनिक और साफ मानते हैं. बोतलबंद पानी पीने से या RO का फिल्टर किया हुआ पानी पीने से आपके शरीर को कितना भयंकर नुकसान हो सकता है इस पोस्ट में हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि पेकिंग वाला बोतलबंद पानी पीने से शरीर को किस हद तक नुकसान हो सकता है यहां तक कि यह आपकी मौत का कारण भी बन सकता है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि ये पानी आपके लिए जरा भी सेफ और अच्छा नहीं है.

पानी मीठा करने के चक्कर में हो जाता है खतरनाक 

बाजार में दुनिया भर की कंपनियों के वाटर फिल्टर और बोतल बंद खूब बिक रहे है. पर ये कितने शुद्ध और शरीर के लिए लाभदायक है कुछ कहा नहीं जा सकता. वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) ने अपनी एक रिपोर्ट में खुलासा भी कर दिया है कि फ़िल्टर किया हुआ या आरओ का पानी आपके स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है.

दरअसल पानी की गुणवत्ता को TDS (Total Dissolved Solids) में मापा जाता है, जो ये बताता है कि पानी में कितने प्रतिशत मिनरल्स है. इन दोनों ही पानी में TDS की मात्रा बहुत कम होती है. ऐसा इसको मीठा रखने के चक्कर में किया जाता है. पानी मीठा लगे इसलिए घर में लगे RO का TDS कम रखवाते हैं.

ज्यादा मीठा पानी स्वास्थ के लिए हानिकारक

अगर TDS 250 से 350 के बीच में हो तो इसे बेस्ट माना जाता है. 200 से 300 की रेंज एवरेज होती है. 150 से कम TDS वाले पानी में आवश्यक मिनरल्स की मात्रा बहुत कम हो जाती है. अक्सर बहुत मीठा लगने वाले पानी का TDS 100 से कम होता है.

ऐसा होने पर ये पानी हार्ट पर बुरा असर डालता है. इससे दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ने के साथ ही बालों का विकास और शरीर के हार्मोन्स पर बुरा असर डालता है. ROऔर बोतल में मिलने वाले पानी का TDS बहुत कम होता है.

पानी जब RO से फिल्टर होकर साफ होता है तो उसमें से काफी सारे मिनरल्स निकल जाते हैं. इसी तरह पैक्ड बोतल में पानी भरने से पहले उसे रिवर ऑसमोसिस प्रोसेस के जरिए फिल्टर किया जाता है. जिससे इसके मिनरल्स निकल जाते हैं. इसलिए देश की हेल्द ऑर्गनाइजेशन के द्वारा इसे मिनरल वाटर कहने पर रोक लगाई गई थी। इसलिए इसे मिनरल वॉटर की जगह पैक्ड ड्रिकिंग वाटर कहा जाता है.

गर्म करके पानी पीना है सबसे सुरक्षित 

अक्सर डॉक्टर मरीज को गर्म पानी पीने की सलाह देते है. वो इसलिए कि ज्यादातर बीमारियां गंदा पानी पीने से होती हैं। ऐसे में गर्म पानी को ठंडा करके पीने से पेट की कोई बीमारी नहीं होती है. गर्म पानी कफ और सर्दी की परेशानी को दूर करता है. खाली पेट सुबह 1 ग्लास गर्म पानी में नींबू डालकर पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और शरीर को विटमिन सी भी मिलता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *