एक ऐसा मगरमच्छ जो मंदिर का प्रसाद खाकर रहता है जिंदा

अभी तक आपने मगरमच्छ के बारे में यही सुना होगा कि वो मांसाहारी होता है, लेकिन इस दुनिया में एक ऐसा मगरमच्छ भी है जो शाकाहारी है. इतना ही नहीं बल्कि यह मगरमच्छ मरने के बाद फिर से जिंदा हो जाता है. यह मगरमच्छ सिर्फ मंदिर का प्रसाद खा कर जिंदा है. यह शाकाहारी मगरमच्छ भारत में मौजूद है. यह केरला के प्रसिद्ध मंदिर पद्मानाभस्वामी मंदिर के बीच स्थित तालाब में रहता है. यह मंदिर भगवान विष्णु का हैं जो झील के बीच बना हुआ है. इस तालाब में रहने वाले इस मगरमच्छ का नाम बबिआ है. यह मगरमच्छ मंदिर की रखवाली करता हैं.

प्रसाद खाकर जिंदा है 

Padmanabhaswamy Temple

कहा जाता है कि जब इस झील में एक मगरमच्छ की मौत हो जाती है तो रहस्यमयी तरीके से दूसरा मगरमच्छ अपने आप प्रकट हो जाता है. भगवान की पूजा के बाद भक्तों द्वारा चढ़ाया गया प्रसाद बबिआ मगरमच्छ को खिलाया जाता है. बबिओ को मंदिर में प्रसाद खिलाने का काम सिर्फ मंदिर के पुजारी ही करते हैं. यह मगरमच्छ शाकाहारी है और वह झील के अन्य जीवों को भी नुकसान नहीं पहुंचाता.

सालों पुराना है तालाब

अनंतपुर मंदिर की झील में यह मगरमच्छ करीब 60 सालों से रह रहा है. स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मगरमच्छ की 1945 में एक अंग्रेज ने गोली मारकर हत्या कर दी थी, लेकिन दूसरे ही दिन वो फिर से वहां प्रकट हो गया था. हालांकि ये वो ही मगरमच्छ है या कोई दूसरा इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता, लेकिन यह इंसान पर कभी अटैक नहीं करता और सिर्फ प्रसाद खाकर जिंदा है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *