अमेरिका में आर्थिक संकट घर बैठ सकते है लाखों कर्मचारी

अमेरिकी राष्ट्रपति बने डोनाल्ड ट्रंप को रविवार के दिन एक साल पूरा हो जाएगा. इसके ठीक एक दिन पहले अमेरिका में एक गंभीर आर्थिक संकट खड़ा हो गया है. यहां ट्रंप के राष्ट्रपति बनने की पहली वर्षगांठ पर अमेरिका में शटडाउन की नौबत आ गई है, क्योंकि सरकारी खर्चों को लेकर अहम आर्थिक विधेयक पर ट्रंप प्रशासन को संसद की मंजूरी नहीं मिल सकी है. ऐसे हालत में अमेरिक में 1981, 1984, 1990 और 1995-96 वर्षों की तरह लाखों कर्मचारियों को बिना वेतन के घर बैठना पड़ सकता है.

दरअसल सरकारी खर्चों को लेकर एक अहम आर्थिक विधेयक को संसद में मंजूरी नहीं मिल सकी, जिसके कारण वहां सरकार को ‘शटडाउन’ करना पड़ा है। इस शटडाउन का असर सीधे तौर पर वहां के कई सरकारी विभागों पर देखने को मिल सकता है. इस शटडाउन की वजह से कई सरकारी विभाग बंद करने पड़ सकते हैं और लाखों कर्मचारियों केा बिना सैलरी के घर बैठना पड़ सकता है. कुल मिलाकर यह है कि इसका असर अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था पर देखने को मिलेगा.

पांच दशकों में पांचवीं बार शटडाउन की नौबत

trump-new-order kuchhnaya
bhaskar.com

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिकी इतिहास में यह पहला मौका नहीं है, जब सरकार को शटडाउन से जूझना पड़ा हो. अमेरिका को पांच दशकों में पांचवीं बार इस तरह की समस्‍या का सामना करना पड़ रहा है. इससे पहले अक्टबूर 2013 में बराक ओबामा के राष्ट्रपति रहने के दौरान भी 16 दिन तक, जनवरी 1996 में 21 दिन तक संघीय एजेंसियों को बंद करना पड़ा था. उस वक्‍त 8 लाख कर्मचारियों को बिना वेतन के घर बैठना पड़ा था. इसके अलावा 1981, 1984, 1990 में भी अमेरिका में शटडाउन की नौबत आ चुकी है.

फंड के अभाव में काम बंद 

trump-new-order kuchhnaya

अमेरिका में एंटी डेफिशिएंसी एक्ट लागू है, जिसमें फंड की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कामकाज रोकना पड़ता है. सरकार फंड की कमी पूरा करने के लिए एक स्टॉप गैप डील लाती है, जिसे अमेरिका की प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना जरूरी होता है. जिस विधेयक के पास न होने की वजह से शटडाउन की समस्‍या आई है वह बिल प्रतिनिधि सभा से तो पारित हो गया था, लेकिन सीनेट में यह अटक गया.

 

इस हालात पर क्या कहते है राष्ट्रपति ट्रंप 

donald-trump-reuters kuchhnaya
khabar.ndtv.com

शटडाउन के बावजूद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को देश की स्थिति बेहतर दिखाई दे रही है. उनका कहना है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है और देश आगे बढ़ रहा है. उन्‍होंने यह बात अपने कार्यकाल के एक साल पूरा होने की पूर्व संध्‍या पर कही है. गौरतलब है कि ट्रंप ने पिछले साल 20 जनवरी को अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी. उनके मुताबिक इस कार्यकाल में नौकरी से लेकर देश में आने वाली कंपनियों और स्टॉक मार्केट सवार्धिक ऊंचाई पर हैं. इस दौरान उन्‍होंने पिछली सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि पिछले 17 सालों में बेरोजगारी सबसे नीचले स्तर पर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *