घर-परिवार की शांति के लिए आसान वास्तु दोष निवारक युक्तियाँ

आज कल हर घर में किसी न किसी बात को लेकर झगड़ा, तनाव, शारीरिक परेशानी जैसी समस्याएं देखने-सुनाने को मिलती है. जिसकी वजह कई हो सकती है. जिसमे घर का वास्तु दोष भी शामिल है. हम उसी वास्तु दोष से बचने और घर परिवार की शांति के लिए बीस आसान युक्तियों के बारे में जानकारी देंगे.

vastu dosh kuchhnaya 01

हिंदू धर्म में यह माना जाता है कि देवी लक्ष्मी स्वच्छ स्थानों पर रहती है. इसलिए हम उसकी पूजा दीवाली में करने से पहले हम अपने घरों को साफ करना सुनिश्चित करते हैं.

अगर आप घर की सफाई करने में व्यस्त हैं तो इन २० आसान वास्तु युक्तियों का प्रयोग क्यों न करें जो आपके घर में खुशी और भाग्य को बढ़ावा देंगे? वास्तु जिसका शाब्दिक अर्थ ‘घर’ है. एक विज्ञान (शास्त्र)  जो पांच तत्वों – पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और आकाश को पूर्ण रूप से रचते है.

विशेषज्ञों का कहना है कि वास्तु शास्त्र का मूल सिद्धांत मनुष्य के जीवन में मूल्य जोड़ना है. प्रत्येक व्यक्ति के दिशानिर्देश के पीछे, एक वैज्ञानिक तर्क है जिसका उद्देश्य सभी को एक संगठित और सुविधाजनक जीवन प्रदान करना है. मानो या न मानो वास्तु का प्रभाव होता है और आपके घर में कुछ बदलाव आपके जीवन में काफी शांति ला सकते हैं.

१- प्रवेश द्वार पर यदि आपके पास खुली दीवार है, तो एक मूर्ति या गणेश की तस्वीर रखिये क्यूंकि एक खाली  दीवार अकेलापन का प्रतिनिधित्व करती है, इसलिए इसे छुपाने का एक अच्छा तरीका है.

ganesh kuchhnaya

२- यदि आपकी इमारत या घर की बोअरिंग गलत दिशा में है, तो पंचमुखी हनुमान की दक्षिण-पश्चिम  दिशा में तस्वीर बनाना सबसे अच्छा होगा.

panch mukhi Hanuman kuchhnaya

३- ध्यान के लिए उत्तर दिशा सबसे अच्छी जगह है. आध्यात्मिक विकास के लिए इस दिशा में ध्यान रखें.

४-पूर्वोत्तर दिशा में अच्छी दृष्टि और योजना बनाने के लिए एक लंबी सड़क का चित्र रखें.

 ५- स्वस्थ परिवार संबंधों के लिए स्वर्ण फ्रेम में दक्षिण-पश्चिम दिशा में एक परिवार की तस्वीर रखें. स्वस्थ परिवार बंधन के लिए सूर्यफूल की पेंटिंग रखें.

femily foto frem kuchhnaya

६- स्वस्थ सामाजिक संबंधों के लिए पूर्व दिशा में एक उभरते सूरज की तस्वीर या पेंटिंग रखें.

७- अध्ययन में सुधार के लिए पूर्व दिशा में अपने बच्चों की अध्ययन तालिका रखें.

८- दरवाजे और खिड़कियों की सम संख्या भी घर में होनी चाहिए.

९- दक्षिण दिशा में दौड़ने वाले लाल घोड़ों को रखकर धन का सतत प्रवाह प्रदान कर सकते हैं और सद्भाव ला सकते हैं.

hors run kuchhanya

१०- स्वस्थ वैवाहिक संबंध के लिए बिस्तर पर एक गद्दे रखें. इसके अलावा पत्नी को हमेशा पति के बाईं तरफ सोना चाहिए.

११- सभी बेकार अव्यवस्था निकालें विशेष रूप से अपने बिस्तर के नीचे यह आपके दिमाग को अतीत से जुड़ा रखता है. जो आगे प्रगति की अनुमति नहीं देता.

१२- बेडरूम को अंधेरे में नहीं छोड़ा जाना चाहिए. यह अच्छी तरह से जलाया जाना चाहिए. सद्भाव और शांति लाने के लिए बेडरूम की दीवार पर गहरे रंगों का उपयोग करने से बचें.

१३- नकारात्मकता को निकालने के लिए बाथरूम में प्राकृतिक हरे पौधे या मोमबत्तियां रखें और चमक को लाएं.

१४- रसोई एक परिवार में रिश्ते को निर्धारित करने में प्रमुख भूमिका निभाता है. रसोई गैस में गैस और सिंक के बीच अधिकतम दूरी बनाए रखें.

१५- संबंधों को बढ़ाने के लिए दक्षिण-पश्चिम दिशा में बेडरूम की योजना बनाई जानी चाहिए.

१६- तेज कोनों के साथ किसी भी सोने की व्यवस्था से बचें. तीव्र कोनों ऊर्जा भाले के रूप में कार्य करते हैं और मस्तिष्क तंत्र में तनाव पैदा करते हैं.

१७- बेहतर विकास के लिए उत्तर-पूर्व दिशा में एक मछली घर को रखें और नकारात्मक ऊर्जा को कम करें.

machali ghar kuchhnaya

१८- सद्भाव के लिए अपने घर की उत्तर-पूर्व दिशा में एक पानी का फव्वारा रखें.

१९- पिरामिड रखने से एक घर के सभी विशाल दोषों को रोकने के लिए एक प्रभावी और जेब के अनुकूल तरीका है. ये घर में रणनीतिक स्थान में स्थापित किए गए हैं. जैसे कि घर का केंद्र, एक विशिष्ट कक्ष या एक ऊर्जावान कुंजी बिंदु.

२०- स्वस्थ संबंधों के लिए पूर्व दिशा में हरे पौधों को रखें.

plant kuchhnaya

फोटो स्रोत गूगल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *